Assessment of Efficiency of the Player

खिलाड़ियों की क्षमता आंकलन ( Assessment of Efficiency of Player ):

किसी भी खिलाड़ी की खेलने की शैली, हुनर और विभिन्न स्तैरिक खेल प्रतियागिताओं में उनके द्वारा दी गयी परफॉरमेंस ही उनकी क्षमता के सूचक होते हैं। सभी खिलाड़ी में हुनर और शारीरिक क्षमता एक समान नहीं होती, किसी में हुनर तो किसी खिलाड़ी में शारीरिक क्षमता अधिक होती है और इसी तरह से आक्रामकता और अनाक्रमकता भी दो पह्लुएँ हैं जो खिलाड़ी की पहचान को उच्चता देती हैं।

खिलाड़ी का चयन उनकी शैली, हुनर, आक्रामकता, निरंतरता और परफॉरमेंस के आधार पर निर्धारित होता है तथा उनकी शैली, हुनर, आक्रामकता, निरंतरता और परफॉरमेंस के स्तर से खिलाड़ियों को प्रोन्नति मिलती है। अगर इन सब बातों पर खिलाड़ी सजगता के साथ लगातर फोकस करता रहे तो दुनिया की कोई ताकत उसे आगे जाने से नहीं रोक सकता। वह कठिन और सतत् प्रयास से स्कूल स्तर से अंतराष्ट्रीय स्तर तक का सफ़र आसानी से तय कर सकता है।

विभिन्न खेलों में खिलाड़ियों की क्षमता का ऑकलन करने के कई तरीके हो सकते हैं लेकिन यहाँ पर क्रिकेट के खेल पर ही मुख्य रूप से फोकस किया जा रहा है।  खिलाड़ी के क्षमताओं को निम्न पाँच भागों में विभाजित किया जा सकता है:

  1. निम्नतम क्षमता ( Lowest Effeciency )
  2. यथास्थिति क्षमता ( Stable Efficiency )
  3. उत्पादक क्षमता ( Productive Efficiency )
  4. सुतपादक क्षमता ( Super Productive )
  5. अनिश्चित उत्पादक क्षमता ( Instable Productive )

खिलाड़ी के क्षमताओं को इन पाँच भागों में विभाजित करने के लिए उनके द्वारा दी गयी पिछले परफॉरमेंस का विश्लेषण किया जाता है और उनकी वास्तविक क्षमता से उन्हें परिचित कराया जाता है।

इस सेवा का लाभ लेने के लिए  निम्नलिखित प्रक्रियाओं को पूर्ण  करने की आवश्यकता होती है :

  1. यूजर अकाउंट बनाना
  2. रजिस्ट्रेशन
  3. प्रतिदान
  4. पूर्व परफॉरमेंस का विवरण ( सम्पूर्ण खेलों का )

सारी प्रक्रियाओं को पूरा करने के पश्चात् मेल द्वारा मांगी गयी सेवा का पूरा रिपोर्ट आपके इ-मेल में प्रेषित कर दी जाएगी।

Translate »