Management of the Form

खिलाड़ियों के फॉर्म का प्रबंधन ( Management of the Form ):

खिलाड़ी का शारीरिक ताकत, हुनर और फॉर्म उनके करियर का रीढ़ होता है। इनमें से कोई एक भी उनका साथ छोड़ दे तो खिलाड़ी का करियर अधोगामी हो जाता है। अर्थात् नीचे की ओर गिरना शुरू हो जाता है। शारीरिक ताकत बढाने के लिए खिलाड़ी खाद्य-विशेषज्ञ और जिम का सहारा ले सकते हैं। किसी खेल का हुनर बढाने के लिए सम्बंधित खेल के विशेषज्ञ कोच की शरण में जायेंगे और अपने हुनर को चमकाएंगे। लेकिन फॉर्म के लिए किसके पास जायेंगे, यह न खिलाड़ी तय कर पाते हैं और न ही खिलाड़ी के शुभचिंतक ही सलाह दे पाते हैं। खिलाड़ी डॉक्टर के पास जायेंगे, खाद्य-विशेषज्ञ के पास जायेंगे, खेल विशेषज्ञ के पास जायेंगे या फिर और कहीं पर उन्हें वहाँ भी फॉर्म नाम की कोई चीज नहीं मिलती। खेल-विज्ञान जमीं से लेकर आसमान तक पहुँच गया पर फॉर्म का समाधान नहीं निकल पाई ।

लाचारी में टीम मैनेजर और कोच अपना टीम-निर्माण में फॉर्म को नहीं क्लास को तवज्जो देते हैं। बीते हुए कल के परफॉरमेंस पर प्लेयिंग इलेवन तय करते हैं। अगर यदि कोच या कप्तान को खिलाड़ी के फॉर्म की सही-सही जानकारी होगी तो वह अपने प्लेयिंग इलेवन में सिर्फ और सिर्फ इन-फॉर्म खिलाड़ी को शामिल करेंगे और मन-माफिक परफॉरमेंस प्राप्त कर मैच को जीतते रहेंगे। आउट-ऑफ़ फॉर्म को बाय-बाय बोलेंगे और जीत को गले लगायेंगे।

आउट-ऑफ़ फॉर्म  को बाय-बाय बोलने के लिए ट्राइबल रिफार्म सर्विसेज उपलब्ध कराती है फॉर्म प्रंबधन सेवा।

इस सेवा का लाभ लेने के लिए  निम्नलिखित प्रक्रियाओं को पूर्ण  करने की आवश्यकता होती है :

  1. रजिस्ट्रेशन, यदि नहीं किया हो तो
  2. प्रतिदान
  3. प्रोफाइल के सभी हिस्सों को अपडेट करना
  4. अतिरिक्त सूचनाएं मेल या फ़ोन पर मांगी जाएँगी
  5. मैच की तिथियों की जानकारी।

सारी प्रक्रियाओं को पूरा करने के पश्चात् मेल द्वारा मांगी गयी सेवा का पूरा रिपोर्ट आपके ई-मेल में प्रेषित कर दी जाएगी।

Translate »